Posts

पूना पैक्ट के बाद बिहार में दलित राजनीति:परिवार तक सीमित क्यों?

131 सांसद सुरक्षित सीटों से जीतकर आते हैं,मगर उनके सामने देश में दलितों के संवैधानिक अधिकारओं पर लगातार कैंची चल रही है.और ये नेतागण चुपचाप संविधान का चीरहरण देख रहे हैं.

वायकोम सत्याग्रह[1924-25] और दलित आंदोलन की नींव:

वायकोम सत्याग्रह 20 वीं सदी में अछूतों का सबसे बड़ा आंदोलन था.इसने भविष्य के लिए दलितों में सामाजिक चेतना को …

Read moreवायकोम सत्याग्रह[1924-25] और दलित आंदोलन की नींव:

प्रथम भारत रत्न विजेता रागोपालचारी{1954}:कैसे बने थे चक्रवर्ती?जानें सच

स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद 1954 में भारत के तीन महान विभूतियों को भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किये गए .सी राजगोपालाचारी …

Read moreप्रथम भारत रत्न विजेता रागोपालचारी{1954}:कैसे बने थे चक्रवर्ती?जानें सच