आजादी के बाद भारत के प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950

Spread the love

आजादी के बाद भारत के प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950-51 में श्री हीरालाल जे.कानिया थे.भारत के गणतंत्र बनने के बाद 28 जनवरी 1950 को उन्होंने आजादी के बाद प्रथम मुख्य न्यायाधीश के पद की शपथ ग्रहण की.एच जे कानिया को भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ0 राजेन्द्र प्रसाद ने शपथ दिलाई.

भारत के प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950 का जीवन परिचय:

हीरा लाल जे .कानिया(H.J.KANIYA) का जन्म 3 -11-1890 को गुजरात के सूरत नगर में हुवा था.उनके पिता का नाम जेकि सुनदास था,जो शामलदास कालेज में प्रधानाचार्य थे.

आजादी के बाद भारत के प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950  एच्.जे कानिया थे.उन पर महाभियोग भी चला था.
H.J.KANIA

H.J.कानिया की शिक्षा:

उन्होंने 1910 में शामलदास कालेज से स्नातक की परीक्षा उत्तीण की.स्नातक करने के बाद उनकी रुचि कानून की पढ़ाई की ओर थी,इसलिए उन्होंने LLB में प्रवेश लिया.1912 में उन्होंने LLB की तथा 1913 में LLM की डिग्री भी हांसिल कर ली.

व्यवसाय के रूप में कार्य:

कानून की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने बम्बई(मुंबई) के उच्च न्यायालय में वकील के तौर पर अपना करियर शुरू किया.उन्होंने कुछ दिन तक’इंडियन लॉ रिपोर्टस’के कार्यवाहक संपादक का दायित्व भी निभाया.बम्बई(मंबई) उच्च न्यायालय में उन्होंने कार्यकारी न्यायाधीश का कार्यभार भी संभाला.

1943 में उनको ‘सर’की उपाधि दी गयी.

भारत के मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति:

आजादी के बाद 1950 से 1973 तक व्यावहारिक रूप से उच्चतम न्यायालय में सबसे सीनियर जज को भारत का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया जाता था.1973 में इंदिरा गाँधी के शासन में पहली बार इस व्यवस्था को किनारे करते हुए ए एन. राय को मुख्य न्यायाधीश बनाया गया,जबकि उनके ऊपर तीन और सीनियर जज कार्यरत थे.

CJI A.N RA

इसी प्रकार 1977 में भी एम.यू.बेग को मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया,जबकि उनके ऊपर भी सीनियर न्यायाधीश थे.सरकार के इस प्रकार के फैसलों की स्वतंत्रता को उच्चत्तम न्यायालय ने 1993 में कम कर दिया.उच्चतम न्यायालय ने व्यवस्था दी कि उच्चत्तम न्यायालय के सबसे सीनियर न्यायाधीश को ही भारत का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया जाना चाहिये.ये व्यवस्था अभी तक जारी है.

भारत के मुख्य न्यायाधीश की योग्यता:

वही व्यक्ति भारत के उच्चतम न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश बन सकता है जो निम्न प्रकार की योग्यता रखता हो.

  1. सबसे मुख्य शर्त केवल भारत का नागरिक ही मुख्य न्यायाधीश बन सकता है.
  2. उसको किसी भी उच्च न्यायालय या अन्य न्यायालय में कम से कम 10 वर्ष तक वकील होना चाहिए.
  3. देश के किसी भी उच्च न्यायालय में कम से कम 5 साल न्यायाधीश होना चाहिए.
  4. राष्ट्रपति के नजरों में उस व्यक्ति को सम्मानित न्यायवादी होना चाहिए.

भारत के मुख्य न्यायाधीश का कार्यकाल:

संविधान में उच्चतम न्यायालय के जजों का कार्यकाल निहित नहीं किया गया है,हालांकि इस संबंध में निम्न उपबन्ध बनाये गए हैं:-

  1. वह 65 वर्ष की आयु तक पद पर बना रह सकता है.
  2. वह राष्ट्रपति को लिखित त्यागपत्र दे सकता है.
  3. संसद की सिफारिश पर राष्ट्रपति द्वारा उसको पद से हटाया जा सकता है.
आजादी के बाद भारत जे प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950.जिन पर महाभियोग चलाया गया.
H.j.Kaniya

“आजादी के बाद भारत के प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950 एच्.जे.कानिया पर महाभियोग चलाया गया था.”

भारत के मुख्य न्यायाधीश का वेतन:

भारत के उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश को वेतन,भत्ते,विशेषाधिकार,अवकाश एवं पेंशन का निर्धारण भारत की संसद द्वारा किया जाता है.वित्तीय आपातकाल के समय इन सुविधाओं को कम किया जा सकता है.वर्तमान में उच्चत्तम न्यायालय के न्यायाधीश का वेतन 2 लाख 80 हजार रुपये प्रति माह गए.इसके अलावा उन्हें अन्य भत्ते भी दिए जाते हैं,उन्हें निःशुल्क आवास, चिकित्सा, कार एवं टेलीफोन की सुविधा मिलती है.

सेवानिवृत्त मुख्य न्यायाधीश और अन्य जजों को अंतिम माह के वेतन का 50%पेंशन के रुप में दिया जाता है.

नोट:भारत के प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950 का वेतन कितना था?जानकारी quora से मांगी गई है.

भारत के मुख्य न्यायाधीशों की सूची :(भारत के प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950 से सन 2001 तक)

आजादी के बाद भारत के प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950 से लेकर सन 2000 तक 2001 तक 29 मुख्य न्यायाधीश बन चुके थे.

मुख्य न्यायाधीशों की लिस्ट 2001 तक:

s.n. Name of CJIDuration
1 हीरा लाल जे कानिया1950-1951
2एम पतंजली शर्मा1951-1954
3मेहर चंद महाजन1954-1954
4बी के मुखर्जी1954-1956
5एसआर दास1956-1959
6भुवनेश्वर प्रसाद सिन्हा1959-1964
7पी वी गजेंद्र गढ़कर1964-1966
8ए के सरकार1966-1966
9के सुब्बाराव1966-1967
10के एन वांचू1967-1968
11एम हिदायतुला1968-1970
12जे सी शाह1970-1971
13एमएम सीकरी1971-1973
14अजित नाथ रे1973-1977
15एमएच बेग1977-1978
16यशवंत विष्णु चंद्रचूड़1978-1985
17पीएन भगवती1985-1986
18रघुनन्द स्वरूप पाठक1986-1989
19ईएम वेंकट रमैया1989-1989
20सव्यसाची मुखर्जी1989-1990
21रंगनाथ मिश्र1990-1991
22केएन सिंह1991-1991
23एमएच कानिया1991-1992
24ललित मोहन शर्मा1992-1993
25एमएच वेंकटचलैया1993-1994
26एएम अहमदी1994-1997
27जगदीश प्रसाद वर्मा1997-1998
28मदन मोहन पूँछी1998-1998
29ए एस आनन्द1998-2001
1-भारत के प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950 पर महाभियोग क्यों लगाया गया था?

2-आजादी के बाद भारत के प्रथम मुख्य न्यायाधीश 1950 को पद की शपथ किसने दिलाई थी?


Spread the love

Leave a comment